D.C. Generator Working Principle In Hindi

इस आर्टिकल में D.C. जनरेटर की कार्यप्रणाली (Working Principle) के बारे बिस्तार से बताया गया है आप डी.सी. जनरेटर की बनावट हमारे पिछले आर्टिकल पड़ें ।

D.C. जनरेटर के सिद्धांत (Principle Of D.C. Generator): जब किसी चालक को यांत्रिक इनपुट देकर उसे चुंबकीय क्षेत्र में घुमाया जाता है तो फ्लक्स चुंबकीय बल रेखाएं कटती हैं जिससे फैराडे के विद्युत चुंबकीय प्रेरण के सिद्धांत के अनुसार आर्मेचर की वाइंडिंग में विद्युत वाहक बल उत्पन्न होता है। यदि परिपथ बंद हो तो प्रेरित धारा उत्पन्न होती है । D.C. जनरेटर में विद्युत वाहक बल की दिशा फ्लेमिंग के बाएं हाथ के नियम के अनुसार दी जाती है ।

D.C. Generator Working Principle In Hindi

दिए गये चित्र में दिखाया गया है की कैसे एक D.C. जनरेटर काम करता है जैसा की हम देख सकते हैं की आर्मेचर पोल N,S के बीच में रखा जाता है जब इसे बहार से यांत्रिक बल की सहायता से गुमय जाता है तो आर्मेचर N,S के बीच में स्तिथ फ्लक्स को काटता है जिससे उसमे विद्युत वाहक बल उत्पन्न होता है ।

डी.सी. जनरेटर  में उत्पन्न विद्युत वाहक बल सदेव A.C. होता है जिसे कम्यूटेटर के द्वारा डी.सी. उर्जा में परिवर्तित किया जाता है यहाँ ये पता होना जरुरी है की आर्मेचर के द्वारा उत्पन्न  विद्युत वाहक बल सदा A.C. होता है जिसे हम कम्यूटेटर के द्वारा डी.सी. में बदलते हैं ।

Previous articleConstruction of DC Generator in Hindi
Next articleElectrostatics And Electrodynamics Electricity In Hindi
मोहम्मद साजिद अंसारी
मेरा नाम मोहम्मद साजिद अंसारी है मै अभी M.Tech(Power System) का Student हूँ । मेने ये ब्लॉग उन सभी Students के लिए बनाया है, जो लोग इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग के स्टूडेंट्स हैं और सरकारी एग्जाम की तैयारी कर रहें हैं । इसके आलावा आप इलेक्ट्रिकल फॉर हिंदी के YouTube चैनल को भी सब्सक्राइब करें । नीचे दी गयी लिंक से ब्लॉग को सोशल मीडिया पर फॉलो करें ।

2 COMMENTS

    • mere blog par theme newspaper hai aap iski speed badane ke liye W3 total cache ha istemaal kare isse aapki speed bahut increage hogi me bhi yahi use karta hunn

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.