Difference between AC And DC Current In Hindi

जैसा कि हमने पिछले Article विधुत धारा (Electric Current) के बारे में पड़ा वहां बताया गया है की आवेश प्रवाह की दर धारा(Current) कहलाती है । धारा एक अदिश राशि होती है । चालक पदार्थों में धारा(Current) इलेक्ट्रॉन के द्वारा प्रभावित होती है तथा अर्धचालकों में धारा(Current) Hole तथा इलेक्ट्रॉन के द्वारा प्रभावित होती है । आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से धारा के प्रकार (Types Of Electric Current) के बारे में अध्ययन करेंगे ।

विद्युत धारा को दो भागों में विभाजित किया है ।

  1. AC प्रत्यावर्ती धारा (Alternating Current)  DC दिष्ट धारा (Direct Current)

इस Article के माध्यम से आप जान पाएंगे प्रत्यावर्ती धारा और दिष्ट धारा  (Difference Between AC And DC Current) के बीच में क्या अंतर होता है ।

Difference between AC And DC Current In Hindi

DC दिष्ट धारा (Direct Current)
AC प्रत्यावर्ती धारा (Alternating Current)  
  1. जिसमें विद्युत धारा का मान और उसकी दिशा, समय के साथ नियत बनी रहती है उसे हम DC दिष्ट धारा (Direct Current) कहते हैं ।
  1. जिसमें विद्युत धारा का मान और उसकी दिशा समय के साथ बदलती रहती है वह प्रत्यावर्ती धारा (Alternating Current) कहलाती है ।
2. DC धारा के लिए आवृत्ति का मान शुन्य होता है । 2. AC धारा के लिए आवृत्ति का मान घरेलू उपयोग के लिए 50 Hz होता है ।
3. DC धारा के लिए आवर्तकाल अनंत (Infinity) होता है । 3. AC धारा के लिए आवर्तकाल 0.02 सेकंड होता है ।
4. DC धारा अधिक हानिकारक होती है । 4. AC धारा तुलनात्मक रूप से कम हानिकारक होती है ।
5. DC धारा अधिकतम 600 KV तक उपयोग में लाई जा सकती है । 5. AC धारा अधिकतम 765 KV उपयोग में लाई जा सकती है ।
6. प्रत्यावर्ती धारा (AC) से दिष्ट(DC) धारा में परिवर्तन रेक्टिफायर के द्वारा किया जाता है । 6. दिष्ट(DC) धारा से प्रत्यावर्ती(AC) धारा में परिवर्तन इनवर्टर के द्वारा किया जाता है ।
7. DC धारा को जनरेटर, सेल, बैटरी आदि से प्राप्त किया जाता है । 7. AC धारा को अल्टरनेटर, ऑक्सीलेटर (Oscillator) आदि से प्राप्त किया जाता है ।

 

आवृत्ति(Frequency)

किसी ऐसी तरंग के द्वारा  एक सैकेंड में लगाया जाए चक्करों की संख्या आवृत्ति के द्वारा व्यक्त की जाती है ।

आवर्तकाल(Time Period)  

किसी प्रत्यावर्ती धारा में एक चक्कर पूरा करने में लगने वाला समय आवर्तकाल कहलाता है ।

Previous articleDC Circuit Theory Circuit Element And Definition In Hindi
मोहम्मद साजिद अंसारी
मेरा नाम मोहम्मद साजिद अंसारी है मै अभी M.Tech(Power System) का Student हूँ । मेने ये ब्लॉग उन सभी Students के लिए बनाया है, जो लोग इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग के स्टूडेंट्स हैं और सरकारी एग्जाम की तैयारी कर रहें हैं । इसके आलावा आप इलेक्ट्रिकल फॉर हिंदी के YouTube चैनल को भी सब्सक्राइब करें । नीचे दी गयी लिंक से ब्लॉग को सोशल मीडिया पर फॉलो करें ।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.